हिंदी Mobile
Login Sign Up

suffice sentence in Hindi

"suffice" meaning in Hindi
SentencesMobile
  • The reshuffles by themselves may not suffice .
    सेना में हा फेरबदल शायद पर्याप्त नहीं है .
  • In some cases , the daily journey for fodder will suffice .
    कई बार तो चारे के लिए की जाने वाली दैनिक यात्रा ही पर्याप्त रहती है .
  • In the steam age a sonnet or a lyric would suffice ; in the nuclear age even a coupletwould perhaps be too much .
    इस काव्य के युग में एक चतुर्दशपदी या सॉनेट यानी एक गीत ही पर्याप्त होगा , आणविक युग में एक दोहा या कि दो मिसरे के बोल ही काफी होंगे .
  • While counselling alone may suffice for mild cases , others would need both counselling - for patient , parents and teachers - and medication .
    हल्के लक्षणों में तो परामर्श से काम चल सकता है , गंभीर मामलं में दोनों की जरूरत पड़े सकती है-बच्चे को दवा की और माता-पिता तथा टीचर को परामर्श की .
  • Suffice it to remark that a knowledge of the base sequence in the messenger RNA and the resulting amino acid sequence in protein gives away the code for each amino acid .
    अभी इतना कहना ही पर्याप्त है कि संदेशवाहक आर.एन.ए . के समाक्षर , अनुक्रम तथा उससे प्राप्त होने वाले प्रोटीनों में स्थ्Lत एमिनों अम्लों के क्रम से इस बात का पता चलता है कि हर प्रोटीन का कूट रूप क़्या हे .
  • I refrain from suggesting specific steps Israel should take in part because I am not Israeli, and in part because discussing tactics to win is premature before victory is the policy. Suffice to say that the Palestinian Arabs derive immense succor and strength from a worldwide network of support from NGOs, editorialists, academics, and politicians; that the manufactured Palestinian Arab “refugee” problem stands at the dank heart of the conflict, and that the lack of international recognition of Jerusalem as Israel's capital festers. These three issues are clearly priorities.
    पश्चिमी तट से फिलीस्तीनी अरबवासियों को स्थानान्तरित करने का आक्रामक कदम इजरायल के लिये उल्टा पड़ सकता है. इससे गुस्सा और बढ़ेगा, शत्रुओं की संख्या में वृद्धि होगी तथा संघर्ष शाश्वत हो जायेगा.
  • The key words in this scenario are “hope” and “perhaps,” with the proverbial wing and prayer replacing strategic plans. This is not, to put it mildly, the usual way great powers conduct business. The second prospect consists of the U.S. government (and perhaps some allies) destroying key Iranian installations, thereby delaying or terminating Tehran's nuclear aspirations. Military analysts posit that American airpower, combined with good intelligence and specialized ordnance, suffice to do the needed damage in a matter of days; plus, it could secure the Straits of Hormuz .
    इस स्थिति में ‘आशा' और ‘ सम्भवत:' यही दो मुख्य शब्द हैं जो रणनीतिक योजना को प्रार्थना से स्थानापन्न करते हैं. यदि नरम शब्दों में कहें तो सामान्य तौर पर महाशक्तियों के काम करने का यह तरीका नहीं है.
  • Then he analysed the language of Section 124-A R.P.C . and said : ” The language of Section 124-A Ranjit Penal Code , if read literally , even with the explanations attached to it , would suffice to make a surprising number of persons in this country guilty of sedition ; no one however supposes that it is to be read in this literal sense .
    तदुपरांत उन्होंने आर.पी.सी . की धारा 124-ए की भाषा का विश्लेषण करते हुए कहा- ” रणजीत पीनल कोड की धारा 124-ए की भाषा को अगर अक्षरश : पढ़ा जाये , उससे संलग़्न व्याख़्याओं को भी , तो वह इस देश की बहुतायत जनसंख़्या को राजद्रोही साबित करने के लिए पर्याप्त है , बहरहाल कोई भी इसे शाब्दिक अर्थ में नहीं लेता .
  • The growing prominence of converts to terrorism means that such counterterrorism tools as looking for Muslim names or excluding potential terrorists at the border do not suffice. Instead, it is now also critical to know exactly who converts to Islam and to watch converts to see which of them are radicalized.
    धर्मान्तरितों द्वारा आतंकवाद की बढती घटना से स्पष्ट है कि आतंकवाद प्रतिरोधी तत्वों द्वारा मुस्लिम नामों को देखना तथा संभावित आतंकवादियों को सीमा से बाहर भेजना ही पर्याप्त नहीं है . इसके अतिरिक्त यह देखने की भी आवश्यकता है कि कौन इस्लाम में धर्मान्तरित हो रहा है तथा उन धर्मावन्तरितों में कौन कट्टर हो रहा है .
  • That done, nearly the entire remaining old guard remains in power, with the top military man, Chief of Staff Rachid Ammar , apparently having replaced Ben Ali as the country's powerbroker. The old guard hopes that tweaking the system, granting more civil and political rights, will suffice for it to hold on to power. If this gambit succeeds, the seeming revolution of mid-January will end up as a mere coup d'état .
    यह कर देने से पुरानी सरकार के सभी प्रमुख लोग सत्ता में बने रह गये और उसमें भी सेना के प्रमुख व्यक्ति सेना के प्रमुख राशिद अमार ने सत्ता के शीर्ष पर बेन अली का स्थान ग्रहण किया। पुराने लोगों को विश्वास है कि लोगों को अधिक नागरिक अधिकार और राजनीतिक अधिकार देकर सत्ता पर नियंत्रण स्थापित रहेगा क्योंकि यह जनता के लिये पर्याप्त होगा। यदि यह जुआ सफल रहा तो मध्य जनवरी की यह क्रांति केवल तख्तापलट बन कर रह जायेगी।
  • Non-Western strategists recognize the primacy of politics and focus on it. A string of triumphs - Algeria in 1962, Vietnam in 1975, and Afghanistan in 1989 - all relied on eroding political will. Al-Qaeda's number two, Ayman al-Zawahiri , codified this idea in a letter in July 2005, observing that more than half of the Islamists' battle “is taking place in the battlefield of the media.” The West is fortunate to predominate in the military and economic arenas, but these no longer suffice. Along with its enemies, it needs to give due attention to the public relations of war.
    गैर पश्चिमी रणनीतिकार राजनीति के महत्व को समझते हैं और उस पर ध्यान देते हैं. अल्जीरिया में 1962, वियतनाम में 1975 और अफगानिस्तान में 1989 की विजय सभी गिरती हुई राजनीतिक इच्छा शक्ति का परिणाम थीं. इस विषय को अल कायदा के दूसरे नम्बर के अमान अल जवाहिरी ने कूट शब्द देते हुये अपने जुलाई 2005 के पत्र में कहा कि इस्लामवादियों की आधे से अधिक लड़ाई का मैदान तो मीडिया है.
  • Listen to their interchangeable words: Harold Pinter describes America as “a country run by a bunch of criminal lunatics” and Osama bin Laden calls the country “unjust, criminal and tyrannical.” Noam Chomsky terms America a “leading terrorist state” and Hafiz Hussain Ahmed , a Pakistani political leader, deems it “the biggest terrorist state.” These commonalities suffice to convince the two sides to set aside their many differences in favor of cooperation.
    उनके पारस्परिक संवाद के शब्दों को सुना जाये तो हैरोल्ड पिंटर अमेरिका को ऐसा देश बताते हैं जो आपराधिक गुंडों द्वारा संचालित है और ओसामा बिन लादेन देश को “ अन्यायी, आपराधिक और दमनकारी कहता है”। नोम चोमस्की के अनुसार अमेरिका एक अग्रणी आतंकवादी देश है और हाफिज हुसैन अहमद के अनुसार जो कि पाकिस्तानी राजनेता हैं, “ सबसे बडा आतंकवादी राज्य” । ये समानतायें इस बात के लिये पर्याप्त हैं कि वे सहयोग के लिये आपसी मतभेद को किनारे कर दें।
  • Among its many conceptual mistakes, this hope implied devoting too little attention to the competition raging between Fatah and Hamas since 1987 for the backing of the Palestinian street, a competition that impelled Fatah not be seen as going easy on Israel but as aggressively anti-Zionist as Hamas. Given that Fatah was in negotiations with successive Israeli governments and it had to make gentle noises to the Israeli and western media, the organization had to take a particularly ferocious stance on the ground. What American (and Israeli) policy makers tended to dismiss as incidental turned out to have deep and abiding consequences; suffice it to say that the Palestinian constituency for accepting Israel as a Jewish state has steadily lowered since the heady days of late 1993, to the point that it now represents only about a fifth of the body politic.
    स्कैंजर ने इसे भी अभिलेखित किया है कि अमेरिका की विदेश नीति द्वारा फतह और हमास के फितना ( आन्तरिक संघर्ष के लिये अरबी शब्द) पर अधिक ध्यान न दिये जाने का क्या प्रभाव हुआ है। इसका एक परिणाम तो यह हुआ कि जनवरी 2006 के चुनावों तक फिलीस्तीनी जनता के मन को जाना नहीं जा सका और वाशिंगटन उन्हें प्रसन्न करने में ही लगा रहा।
  • Jan. 15, 2009 update : The secretary of defense commissioned something he calls the “DoD Independent Review Related to Fort Hood” to figure out what went wrong in the Hasan case. It dutifully produced a 53-page document with lots of appendices titled Protecting the Force: Lessons from Ft. Hood . Suffice to say that the word Islamic appears just once (in the title of a cited reference) and the words Islam , Muslim , and jihad appear not a single time. Thus does the farce of continue; rather than address the army's denial about Islamism, this review commission perpetuates it. Oct. 15, 2010 update : Enough of the smiling pictures of Hasan. Here is one from his trial that gives a better insight into his character.
    अंत में जिहादी विचारधारा इस्लामी अधिकारियों के उस विचार को मह्त्व देती है जो अमेरिका के मुस्लिम सैनिकों से आग्रह करती है कि वे अपने समानधर्मी लोगों के विरुद्ध युद्ध न करें और ऐसा करते हुए वे अचानक जिहाद के लिये आधार प्रदान करते हैं। उदाहरण के लिये 2001 में तालिबान के विरुद्ध अमेरिकी आक्रमण की प्रतिक्रिया में मिस्र के मुफ्ती अली गुमा ने एक फतवा जारी किया कि “ अमेरिकी सेना के मुस्लिम सैनिकों को इस युद्ध में भाग नहीं लेना चाहिये”। हसन ने इसी बात को ध्वनित किया जब उसने एक युवा मुस्लिम शिष्य दुवे रिसोअर जूनियर को अमेरिकी सेना में भर्ती न होने की सलाह दी क्योंकि मुसलमानों को मुसलमानों की हत्या नहीं करनी चाहिये।
  • Jan. 15, 2009 update : The secretary of defense commissioned something he calls the “DoD Independent Review Related to Fort Hood” to figure out what went wrong in the Hasan case. It dutifully produced a 53-page document with lots of appendices titled Protecting the Force: Lessons from Ft. Hood . Suffice to say that the word Islamic appears just once (in the title of a cited reference) and the words Islam , Muslim , and jihad appear not a single time. Thus does the farce of continue; rather than address the army's denial about Islamism, this review commission perpetuates it. Oct. 15, 2010 update : Enough of the smiling pictures of Hasan. Here is one from his trial that gives a better insight into his character.
    अंत में जिहादी विचारधारा इस्लामी अधिकारियों के उस विचार को मह्त्व देती है जो अमेरिका के मुस्लिम सैनिकों से आग्रह करती है कि वे अपने समानधर्मी लोगों के विरुद्ध युद्ध न करें और ऐसा करते हुए वे अचानक जिहाद के लिये आधार प्रदान करते हैं। उदाहरण के लिये 2001 में तालिबान के विरुद्ध अमेरिकी आक्रमण की प्रतिक्रिया में मिस्र के मुफ्ती अली गुमा ने एक फतवा जारी किया कि “ अमेरिकी सेना के मुस्लिम सैनिकों को इस युद्ध में भाग नहीं लेना चाहिये”। हसन ने इसी बात को ध्वनित किया जब उसने एक युवा मुस्लिम शिष्य दुवे रिसोअर जूनियर को अमेरिकी सेना में भर्ती न होने की सलाह दी क्योंकि मुसलमानों को मुसलमानों की हत्या नहीं करनी चाहिये।
  • Ron Unz and I see the long-term danger differently. To me, the current wave of militant Islamic violence against the United States, however dangerous, is ultimately less consequential than the non-violent effort to transform it through immigration, natural reproduction, and conversion. It surprises me that Mr. Unz would find Islamists to be no greater a force than Christian churches, Mormons, Scientologists, and “Moonies.” Had Christians wanted the United States to be a Christian country, it would be one; that is one ambition that plainly does not exist. As for Mormons, Scientologists, and members of the Unification Church, it should suffice to point out that there are some 50 self-identifying Muslim states in the world, but not one that is under Mormon, Scientologist, or Unification Church control. Finally, most Muslims in this country are not blacks, and most African-American converts to Islam adhere to normative Islam, not to the Nation of Islam.
    रोन उज और मैं दूरगामी खतरे को अलग रूप से देखते हैं। मैं मानता हूँ कि अमेरिका के विरुद्ध वर्तमान उग्रवादी इस्लामी हिंसा का प्रवाह भले ही खतरनाक है पर यह अहिंसक तरीके से आप्रवास, नैसर्गिक संतानोत्पत्ति और मतांतरण रूप से किये जाने वाले परिवर्तन की अपेक्षा कहीं कम खतरनाक है। मुझे यह आश्चर्यजनक लगता है कि श्रीमान उंज को इस्लामवादी ईसाई चर्च , मोरमोन , सिंटोवादियों और मूनियों से कहीं अधिक खतरनाक नहीं दिखते। क्या ईसाइयों ने कभी चाहा कि अमेरिका ईसाई देश हो जाये यदि वे ऐसा चाहें तो यह हो जाये परंतु ऐसी महत्वाकाँक्षा अस्तित्व में है ही नहीं। यही बात मोरमोन ,सिंटोवादियों और यूनीफिकेशन चर्च के बारे में भी सही है , इसे प्रमाणित करने के लिये इतना पर्याप्त है कि मुस्लिम राज्य की पहचान के साथ 50 से अधिक राज्य हैं पर एक भी राज्य नहीं है जो मोरमोन , सिंटोवादी या यूनीफिकेशन चर्च द्वारा नियंत्रित हो। अंत में इस देश में अधिकतर मुस्लिम अश्वेत नहीं हैं और अधिकतर अफ्रीकी अमेरिकी मुस्लिम इस्लाम के प्रति लगाव रखते हुए मतांतरित होते हैं न कि नेशन आफ इस्लाम के प्रति लगाव के साथ।

suffice sentences in Hindi. What are the example sentences for suffice? suffice English meaning, translation, pronunciation, synonyms and example sentences are provided by Hindlish.com.